Russia Asteroid Attack रूस में गिरा उल्कापिंड Asteroid Attack On Russia In Chelyabinsk 2013

Russia asteroid attack:

दोस्तों आज हम बात करेंगे 2013 में रूस के Chelyabinsk मैं गिरे उल्कापिंड के बारे में जी हां दोस्तों समय था फेब्रुअरी 2013 जब रूस के वातावरण में एक 20 मीटर व्यास वाला उल्कापिंड बड़ी तेजी से प्रवेश कर जाता है जिसके तेज आवाज और रोशनी के कारण लोगों में हाहाकार मच जाता है की आखिरी अचानक आसमान से कौन सी आफत आ गई तभी आसमान में एक जोरदार आवाज के साथ बहुत ही भयानक धमाका होता है जिसके वैज्ञानिकों के अनुसार यह उल्कापिंड धरती से लगभग 30 किलोमीटर ऊपर ब्लास्ट हो जाता है जिसकी वजह से जोरदार धमाका होता है और 6 शहर इस धमाके के चपेट में आ जाते हैं जिससे 7200 घर सतीग्रस्त हो जाते हैं और लगभग 1500 लोग घायल हो जाते हैं Russia chelyabinsk asteroid attack किसी उल्कापिंड के कारण इतनी तबाही रूस के इतिहास में पहली बार ऐसी घटना घटी थी !


Chelyabinsk Asteroid blast:

2013 चेल्याबिंस्क मे गिरा उल्कापिंड धरती की सतह से 30 किलोमीटर ऊपर ब्लास्ट हुआ था वैज्ञानिकों का कहना था कि यह स्ट्राइड 30 किलोमीटर ऊपर के बजाय अगर 8 किलोमीटर ऊपर ब्लास्ट होता तो आज रूस के यह शहर दुनिया के नक्शे से गायब हो जाते और अगर इस उल्कापिंड का व्यास 20 मीटर के बजाय 60 मीटर होता तो यह उल्कापिंड निश्चित ही धरती से सिर्फ 8 किलोमीटर ऊपर ही ब्लास्ट होता और अगर ऐसा होता तो यह 6 शहर को कोई नहीं बचा सकता था लेकिन शुक्र है की है asteroid धरती से 30 किलोमीटर ऊपर ब्लास्ट हुआ जिससे धरती पर रहने वाले लोग और इन छह शहरों को ज्यादा नुकसान नहीं हुआ!

उल्का पिंड का मलबा:

इस उल्कापिंड का मलबा छेबारकुल नामक एक बर्फ की जमी हुई झील में गिरा था इस मलबे के गिरने से उस झील के अंदर 20 फीट चौड़ा गड्ढा बन चुका था वैज्ञानिकों के अनुसार यह उल्कापिंड ब्लास्ट से पहले 10 टन वजनी था जो धरती के वायुमंडल में प्रवेश करके वायुमंडल के घर्षण से जलकर ब्लास्ट हो गया इस उल्कापिंड की वजह से रसिया को 3.3 करोड़ डॉलर का नुकसान हुआ था !

अंतरिक्ष कितना खतरनाक है:

दोस्तों यह अंतरिक्ष धरती से देखने पर जितना शांत नजर आता है दरअसल ये उतना है नहीं इस अंतरिक्ष में लाखों उल्कापिंड, धूमकेतु, ब्लैक होल, और लावारिस गृह घूमते रहते हैं जो कभी भी धरती के लिए खतरा बन सकते हैं और इस ब्रह्मांड में 1 फीट से लेकर कई किलोमीटर बड़े और खतरनाक उल्का पिंड मौजूद है जो हर समय गतिशील है और इस ब्रह्मांड में मौजूद उल्कापिंड हमारी धरती से जीवन को पूरी तरह से खत्म करने की क्षमता रखते हैं इसी वजह से नासा इसरो जैसी दुनिया की बड़ी बड़ी स्पेस एजेंसी हर वक्त अंतरिक्ष में अपनी नजर बनाए रखती है ताकि अंतरिक्ष से कोई खतरा धरती की तरफ आए तो वह पहले लोगों को बता सके और चेतावनी जारी कर सके!

उल्का पिंड कितना नुकसान पहुंचा सकता है:

दोस्तों आप तो जानते हैं आज से लगभग 6 करोड साल पहले धरती पर रहने वाले डायनासोर और जीव जंतु ऐसे ही किसी बड़े उल्कापिंड के गिरने से समाप्त हो गए थे धरती से उनका नामोनिशान मिट गया जब से धरती अस्तित्व में आई है तब से लाखों उल्कापिंड इस धरती पर गिरे हैं और भविष्य में ऐसी घटना दोबारा नहीं होगी इस बात को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता क्योंकि अंतरिक्ष गतिशील है

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पटेल समाज क्रिकेट प्रतियोगिता बडावली 2020 सभी टीमों का रिजल्ट "बाणाकला" चैंपियन

Asteroid hitting on earth Asteroid impact Asteroid attack on earth 2020

2020 के उल्कापिंड जो हमारी धरती के बेहद करीब से गुजरे और धरती के लिए खतरा बन सकते थे