2011 ES4 Asteroids Attack On Earth 1 September 2020 एस्टेरॉइड 2011es4

 

2011ES4 Asteroid

2011 ES4 दोस्तों इस उल्कापिंड को लेकर हमारे वैज्ञानिक काफी समय से परेशान है इस उल्कापिंड ने वैज्ञानिकों की नींद उड़ा रखी है जी हां दोस्तों हम आपको बता दें 2011 ES4 नामक यह उल्कापिंड (एस्टेरॉइड) हमारी धरती के बिल्कुल करीब से होकर गुजरने वाला है 1 सितंबर 2020 कोई उल्कापिंड (एस्टेरॉइड) हमारी धरती से और हमारे चांद के बीच से गुजरने वाला है यह उल्कापिंड हमारी धरती के लिए कितना खतरनाक है और इससे हमारी धरती को खतरा है या नहीं आइए जानते हैं !

2020 में गिरने वाले उल्का पिंड

Coming asteroid 2011 ES4

यह उल्कापिंड 1 सितंबर 2020 को 4:30 pm को हमारी धरती से 1 लाख 21 हजार किलोमीटर दूरी से गुजरने वाला है यह दूरी हमारे धरती और चांद के Orbit period के बीच से गुजरने वाला है वैज्ञानिकों के अनुसार यह दूरी स्पेस के लिए बहुत ही कम है और 0.41% इसकी हमारे धरती से टकराने के संभावना है !


2011 es4 एस्टेरॉइड से कितना खतरा है

धरती से टकराने के संभावना 0.41% है इसी वजह से अगर यह एस्टेरॉइड हमारे धरती के वायुमंडल में प्रवेश कर सकता है अगर ऐसा होता है तो कहीं ना कहीं हमारी धरती के लिए खतरा साबित हो सकता है लेकिन 2011 ES4 उल्का पिंड को लेकर नासा बिल्कुल भी सीरियस नहीं है नासा का कहना है कि यह स्टेरॉयड का व्यास लगभग 25 मीटर का है और 25 मीटर से छोटे एस्टेरॉइड जब हमारे वायुमंडल में प्रवेश करते हैं तो वायुमंडल के घर्षण से हवा में ही जलकर नष्ट हो जाते हैं और हमारी धरती तक नहीं पहुंच पाते और इस एस्ट्रॉयड का व्यास भी 25 मीटर का है इसलिए इसे लेकर चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि अगर यह हमारे वायुमंडल में प्रवेश करेगा तो निश्चित ही जलकर नष्ट हो जाएगा या फिर छोटे-छोटे टुकड़ों में टूट कर बिखर जाएगा और हमारी धरती से टकरा भी जाए तो धरती तक आते आते इसका आकार जलकर बहुत छोटा हो जाएगा जिससे हमारी धरती को ज्यादा नुकसान नहीं होगा NASA के इसी बयान की वजह से NASA इस एस्टेरॉइड को लेकर बिल्कुल भी सीरियस नहीं है नासा के अनुसार 2011 ES4 नामक इस उल्कापिंड से हमारी धरती को कोई खतरा नहीं है !

Asteroid bennu To Aane Wale Samay Mein Dharti se takrayega


2011ES4 कब खोजा गया था

2011 PS4 नामक इस एस्ट्रोराइड को 2 मार्च 2011 को खोजा गया था और तब यह एस्टेरॉयड धरती से 0.054 AU एस्टॉनोमिकल यूनिट रेंज जितना दूर था और तब बड़ी तेजी से यह हमारी धरती की तरफ बढ़ रहा था जिसे देखकर वैज्ञानिक काफी परेशान थे और 13 मार्च 2011 को यह हमारी धरती के बिल्कुल करीब से होकर गुजर गया लेकिन 2011 ES4 नामक इस एस्ट्रॉयड का ऑर्बिट पीरियड 416 दिन का है यानी 416 दिन में यह दोबारा धरती के करीब से होकर गुजरता है इसी अजीब से Orbit period के दौरान 1 सितंबर 2020 को फिर से हमारी धरती के करीब से होकर गुजरने वाला है यह एक अपोलो श्रेणी का एस्ट्रॉयड है और नासा ने इसे नियर अर्थ ऑब्जेक्ट की लिस्ट में रखा है !


2011 ES4 size

2011 ES4 size is 25 metre 25 मीटर व्यास वाले उल्कापिंड की रफ्तार लगभग 48,000 किलोमीटर प्रति घंटा है और हमारे इस ब्रह्मांड में एक एप्पल के आकार से लेकर कई किलोमीटर बड़े एस्टेरॉइड भी मौजूद हैं छोटे एस्टेरॉयड से हमारी धरती को कोई खतरा नहीं है लेकिन दोस्तों जब किसी एस्टेरॉइड का व्यास 90 फीट से ज्यादा होता है तो वह हमारी धरती के लिए कहीं ना कहीं खतरा साबित हो सकता है और आज से 6 करोड़ साल पहले 11 किलो मीटर व्यास वाले chikchu नामक एस्ट्रॉयड ने धरती पर से जीवन पूरी तरह से खत्म कर दिया था जिसमें विशालकाय डायनासोर की प्रजाति पूरी तरह से विलुप्त हो गई थी और धरती पर से जीवन लगभग पूरी तरह से खत्म हो चुका था यह एक उदाहरण है कि बड़े एस्टेरोइड से हमारी धरती को काफी खतरा हो सकता है लेकिन 2011 es4 उल्कापिंड का व्यास सिर्फ 25 मीटर का है इसलिए इस एस्ट्रॉयड से हमारी धरती को कोई खतरा नहीं हैं !

 2020 में आने वाले बड़े खतरे यह भी पढ़ें

2011 ES4 Coming 1 September 2020

दोस्तों यह उल्कापिंड 1 सितंबर 2020 को शाम 4:30 पर हमारी धरती के करीब से होकर गुजरेगा और तब इसकी रफ्तार लगभग 48,000 किलोमीटर प्रति घंटा होगी इस एस्ट्रॉयड का ऑर्बिट पीरियड 416 दिन का है और यह 416 दिन बाद दुबारा से हमारी धरती के करीब से गुजरेगा

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पटेल समाज क्रिकेट प्रतियोगिता बडावली 2020 सभी टीमों का रिजल्ट "बाणाकला" चैंपियन

मृत्युभोज बंद होना चाहिए या नहीं मृत्युभोज एक कुप्रथा है समाज में मृत्युभोज बंद करें

area 51 kya hai | area51 क्या है | aliens Area 51 | एरिया51अमेरिका