What are the of asteroid bennu hitting Earth | Bennu asteroid in hindi उल्का पिंड Bennu धरती से टकराएगा

 Asteroid Bennu

दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं एस्ट्रॉयड Bennu के बारे में एस्ट्रॉयड Bennu आने वाले समय में हमारी धरती से टकरा सकता है नासा ने इस Bennu asteroid के लिए ओसिरिस रेक्स मिशन (Oseries Rex mission) क्यों भेजा आखिर क्या है नासा के इस मिशन का मेन मकसद और इस एस्ट्रॉयड का 9 साल के बच्चे ने Bennu नाम क्यों दिया और क्या आने वाले समय में यह Asteroid Bennu हमारी धरती से टकरा जाएगा तो चलिए जानते हैं एस्ट्रॉयड बिन्नू क्यों है आखिर इतना खास और जानते हैं एस्ट्रॉयड Bennu के बारे में सारी जानकारी

Discovery Of Bennu

दोस्तों इस एस्ट्रॉयड को नासा ने 11 सितंबर 1999 में खोजा था और तब से 1999 RQ36 नाम दिया गया और इसी नाम से इस asteroid को सब जानते थे और तब इस एस्ट्रॉयड को धरती का सबसे करीबी एस्ट्रॉयड घोषित कर दिया गया 23 सितंबर 1999 में asteroid bennu पर कुछ खास रिचार्ज शुरू कर दिया गया जिसके बाद goldstone Deep space network ने रडार तकनीक के जरिए एस्ट्रॉयड की बहुत सारी इमेज ली गई !

एक 9 साल के बच्चे ने इस एस्ट्रॉयड का नाम Bennu कैसे रखा

दरअसल 2012 में The University Of Arizona ने Name The Asteroid नाम का एक कॉन्टेस्ट रखा था जिसमें दुनिया भर के लगभग 8000 बच्चों ने पार्टिसिपेट किया था इस कॉन्टेस्ट में 8000 बच्चों ने भाग लिया था और तब 8000 बच्चों में से एक 9 साल के बच्चे ने इस पार्टिसिपेट को जीत लिया और इसलिए इस बच्चे के कहने पर इस asteroid का नाम बेनू (Bennu) रखा गया
 लेकिन जब इस बच्चे से पूछा गया कि उसने इस asteroid का नाम Bennu क्यों रखा तो उसने जवाब दिया कि नासा द्वारा भेजा गया बेनू के लिए ओ सीरीज रेक्स मिशन (Oseries rex mission) का स्पेस यान सेम बेनू जैसा दिखता है इसलिए इस asteroid का नाम Benny रखा दोस्तों आपको बता दें की Bennu एक इजिप्शियन पक्षी का नाम है !

Oseries Rex mission

दोस्तों नासा द्वारा 8 सितंबर 2016 को भेजा गया मिशन एस्ट्रॉयड Bennu के इतने करीब पहुंच गया है कि वहां से इस एस्ट्रॉयड Bennu के आसानी से रिसर्च कर सकता है Oseries Rex mission का मुख्य उद्देश्य है कि बेन्नू एस्टेरॉइड पर लैंड करना और वहां से इस एस्ट्रॉयड का सैंपल लेकर वापस धरती पर आना दोस्त इतिहास में पहली बार ऐसा होगा कि कोई अंतरिक्ष यान किसी एस्ट्रॉयड पर लैंड करके एस्ट्रॉयड के सैंपल लेकर वापस धरती पर आएगा लेकिन दोस्तों आपको बता दें कि यह सुनने में जितना आसान लग रहा है उतना आसान है नहीं इस मिशन को पूरा होने में लगभग 7 सालों का समय लगेगा दोस्तों इस मिशन के लॉन्च के बाद 2 सालों का लंबा सफर तय करके ओसिरिस रेक्स मिशन 3 दिसंबर 2018 को Asteroid Bennu के बिल्कुल करीब पहुंच गया था Oseries Rex mission स्पेस यान ने वहां से Asteroid Bennh की तस्वीरें लेकर धरती पर नासा को भेजी है और हमारे वैज्ञानिकों ने इतिहास में पहली बार किसी एस्ट्रॉयड को इतने करीब से देखा इन तस्वीरों के जरिए हमारे वैज्ञानिक एस्ट्रॉयड Bennu की और ज्यादा बारीकी से रिसर्च कर सकते हैं Oseries Rex mission के मुताबिक 23 सितंबर 2023 को यह मिशन एस्ट्रॉयड Bennu के सारे सैंपल लेकर वापस धरती पर पहुंचेगा अगर सब कुछ इस मिशन के मुताबिक हुआ तो

O series Rex mission के पीछे वैज्ञानिकों का बड़ा मकसद

दोस्तों आप सोच रहे होंगे कि क्या होगा एक एस्ट्रॉयड के सैंपल लेकर क्या यह इतना जरूरी है आखिर नासा ने इस मिशन पर 800 बिलियन डॉलर खर्च क्यों किए तो चली जानते हैं ना सका इस मिशन के पीछे मेन मकसद क्या है दरअसल वैज्ञानिक प्राचीन काल से ही इस सवाल का जवाब ढूंढ रहे हैं कि हमारे सोलर सिस्टम का निर्माण कैसे हुआ आखिर कैसे यह सभी ग्रह अस्तित्व में आए जिसमें हमारी धरती भी शामिल है और इन सभी सवालों के जवाब ढूंढने में एस्ट्रॉयड बनो हमारी मदद कर सकता है दोस्तों आप सोच रहे होंगे कि हस टो बे नो आखिर कैसे इन सभी सवालों के जवाब ढूंढने में हमारी मदद कर सकता है तो चलिए हम आपको एकदम डिटेल से समझाते हैं दर्श दरअसल जिस कार्बोरेटर से यह एक्स्ट्रा बेनू बना है यह 10 बिलीयन साल पहले किसी दूसरे एस्ट्रॉयड से टूट कर आया है हिंदी में और इस एस्ट्रॉयड बनु में एटम्स और मिनरल्स मौजूद है वह किसी बड़े लाल ग्रह में या फिर किस सुपरनोवा में पाए जाते हैं वैज्ञानिकों की थ्योरी के अनुसार हमारे सोलर सिस्टम के निर्माण से 4.5 बिलियन साल पहले के हैं यानी के एस्ट्रॉयड Bennu का केमिकल नेचर हमारे Solar System के निर्माण से लगभग 10 बिलियन साल पहले बना होगा इससे हमारे वैज्ञानिक यह पता लगा सकते हैं कि हमारा Solar System कैसे अस्तित्व में आया होगा और इसी वजह से नासा द्वारा भेजा गया Oseries Rex mission इतना खास है

क्या एस्ट्रॉयड Bennu हमारी धरती से टकरा जाएगा

दोस्तों यह सवाल हर किसी के मन में होगा एस्ट्रॉयड Benny हमारी धरती से टकरा जाएगा और अगर यह इतना बड़ा Asteroid हमारी धरती से टकराएगा तो हमारी धरती पर कितना तबाही होगा तो चलिए हम आपको बताते हैं कि Asteroid Bennu के हमारी धरती से टकराने की कितनी पॉसिबिलिटी है दरसल Asteroid Bennu का आकार गोलाकार है और यह अपने एक्सेस पर एक रोटेशन लगभग 4 घंटे में पूरा करता है लेकिन वैज्ञानिकों के अनुसार इसकी रोटेशन स्पीड समय के साथ धीरे-धीरे बढ़ती जा रही है वैज्ञानिकों का कहना है सूर्य की तरफ से आने वाली थर्मल प्रोटॉन की वजह से इसकी रोटेशन स्पीड बढ़ रही है और इसी वजह से लगातार रोटेशन स्पीड बढ़ने से इसका ऑर्बिट पीरियड भी बदल रहा है और इसके बदलते हुए ऑर्बिट पीरियड की वजह से भविष्य में यह हमारी धरती के लिए खतरा बन सकता है वैज्ञानिकों के अनुसार 23 सितंबर 2016 को हमारी धरती से लगभग 7 लाख किलोमीटर दूरी से गुजर चुका है और एस्ट्रॉयड Bennu के बदलते हुए ऑर्बिट पीरियड की वजह से 25 सितंबर 2035 को यह हमारी धरती के बेहद करीब आने वाला है और 2135 में इसके हमारे धरती से टकराने के चांसेस बहुत ही ज्यादा है और तब यह Asteroid हमारी धरती के इतने करीब से गुजरेगा कि हमारी धरती के गुरुत्वाकर्षण रेंज के अंदर से गुजरेगा इसी वजह से इसके हमारी धरती से टकराने के चांसेस बहुत ही ज्यादा बढ़ जाते हैं ऐसे में अगर यह हमारी धरती के ग्रेविटी फील्ड में फस गया तो निश्चित ही हमारी धरती से टकराएगा !

NASA इससे बचने के लिए क्या कर रही है

दोस्तों आपको बता दें कि नासा स्पेस एजेंसी एक ऐसे सीक्रेट मिशन पर काम कर रही है जो भविष्य में धरती की तरफ आने वाले किसी भी एस्ट्रॉयड को हवा में ही नष्ट कर सकती है या फिर उसका रास्ता बदल सकती इस सीक्रेट मिशन में नासा एक ऐसा यंत्र बना रही है जो भविष्य में Bennu और Apophis जैसे एस्ट्रॉयड को धरती तक पहुंचने से पहले ही उन्हें हवा में ब्लास्ट कर दिया जाएगा या फिर उनका रास्ता बदल दिया जाऐगा
दोस्त आपको क्या लगता है नासा ऐसे प्रोजेक्ट पर सफल हो पाएगा हमें कमेंट में जरूर बताएं

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पटेल समाज क्रिकेट प्रतियोगिता बडावली 2020 सभी टीमों का रिजल्ट "बाणाकला" चैंपियन

Asteroid hitting on earth Asteroid impact Asteroid attack on earth 2020

2020 के उल्कापिंड जो हमारी धरती के बेहद करीब से गुजरे और धरती के लिए खतरा बन सकते थे