अंतरिक्ष के रहस्य जान कर हैरान हो जाओगे (Mystery of space)

 अंतरिक्ष के रहस्य (Mystery of space)

दोस्तों हमारा अंतरिक्ष या फिर यूं कहे की हमारा ब्रह्मांड कई भयानक और अजीबोगरीब रहस्य से भरा पड़ा है दोस्तों मैं इस लेख में आपको अंतरिक्ष के कुछ ऐसे रहस्य बताने वाला हूं जिसे जानकर आप हैरान रह जाओ

स्पेस में अंतरिक्ष यात्री की लंबाई 1 से 2 इंच तक बढ़ जाती है(The astronaut's length increases from 1 to 2 inches in space)

दोस्तों जब कोई भी अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष में जाता है तो उसकी लंबाई 1 से 2 इंच तक बढ़ जाती है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अंतरिक्ष में कोई भी गुरुत्वाकर्षण बल नहीं है इसलिए उनकी हड्डियों के जोड़ काफी ढीले हो जाते हैं उनकी मांसपेशियां काफी ढीली हो जाती है और ऐसे में गुरुत्वाकर्षण बल नहीं होने की वजह से उनकी लंबाई 1 से 2 इंच तक बढ़ जाती है

चांद पर पैरों के निशान 10 करोड़ साल तक नहीं मिलेंगे(Footprints on the moon will not be found for 100 million years)

जब हमारे अंतरिक्ष यात्री चांद पर कदम रखते हैं तो चाँद पर उनके पैरों के निशान अगले 10 करोड साल तक वैसे के वैसे ही बने रहेंगे ऐसा इसलिए होगा कि चांद पर कोई भी वातावरण नहीं है वहां पर हवा बरसात कुछ भी वातावरण नहीं है इसलिए वहां सूक्ष्म धूल के कण अपनी जगह पर ही रहते हैं इसलिए अंतरिक्ष यात्रियों के पैरों के निशान मिटने में 10 करोड़ साल का समय लगेगा 
क्योंकि अंतरिक्ष में घूम रहे उल्का की सूक्ष्म कण उन पैरों के निशानो को भरने में 10 करोड़ साल का समय लगा लगेगा

जानवर अंतरिक्ष में जाकर बॉडीबिल्डर हो जाते हैं (healthy animal in space)

अंतरिक्ष में जन्मे जीव धरती पर जन्मे जीव से ज्यादा मजबूत और तेज होते हैं दरअसल रसिया के वैज्ञानिकों ने धरती से कुछ कॉकरोच को अंतरिक्ष में भेज कर वहां उनका प्रजनन करवाया ऐसे में पाया गया कि अंतरिक्ष में पैदा हुए कॉकरोच धरती पर पैदा हुए कॉकरोचों से काफी मजबूत और काफी तेज है
 कुछ समय पहले कुछ चूहों को अंतरिक्ष में भेजा गया था और एक महीने बाद जब उन चूहों को वापस धरती पर लाया गया तो उनका मांसपेशियां उनका शरीर काफी मजबूत हो गया था यानी कि चूहे काफी बॉडीबिल्डर हो चुके थे इसलिए स्पेस में जानवर जल्दी विकसित होते हैं और मजबूत और तेज होते हैं

अंतरिक्ष में पानी का स्त्रोत (space in water)

धरती से 140 खराब गुना अधिक पानी का बादल वैज्ञानिकों ने खोजा इस अनंत तक फेले ब्रह्मांड में हमारे वैज्ञानिकों ने पानी का स्रोत ढूंढ निकाला है कई हजार प्रकाश वर्ष दूर इस ब्रह्मांड में एक ऐसा बादल मिला है जिसमें पानी भाप के रूप में मौजूद है वहां धरती पर मौजूद पानी से 140 खराब गुना अधिक पानी मौजूद है

अंतरिक्ष में शराब का महासागर  (alcohol in space)

पानी के बादल से अगर आप चौक गए तो इससे भी बड़ा चौका देने वाला तथ्य यह है अंतरिक्ष में शराब का महासागर
 इस अंतरिक्ष में वैज्ञानिकों ने एक एल्कोहल का बादल भी ढूंढ निकाला है जिसे आप एक शराब का महासागर के सकते हो दरअसल हमारी आकाशगंगा के मध्य से 350 प्रकाश वर्ष दूर सेटिटोरियस नाम का एक बादल खोजा गया है इस बादल में खरबो लीटर शराब (एल्कोहॉल) का भंडार मौजूद है

अंतरिक्ष गतिशील है (everytime running space)

दोस्तों इस रहस्यमय अंतरिक्ष के अंदर कुछ भी स्थाई नहीं है हर चीज गतिशील है छोटी से छोटी सुक्ष्म कण से लेकर हमारी धरती, हमारा सौरमंडल, हमारी गैलेक्सी, सब कुछ गतिशील है और हमारी मिल्की वे गैलेक्सी के सेंटर में हमारा सूर्य भी  गति कर रहा है और हमारी मिल्की वे गैलेक्सी 512 किलोमीटर पृति सेकंड की रफ्तार से गति कर रही है इसी तेज गति की वजह से अगले 5 अरब साल बाद हमारी  Milky Way galaxy पास वाली Galaxy ultrameda से टकरा जाएगी और तब तक हम इंसान शायद जिंदा नहीं रहेंगे

ब्लैक होल (Black Holes)

ब्लैक होल दोस्तों इस अंतरिक्ष में ब्लैक होल एक ऐसा शैतान है जो अपने रास्ते में आने वाले हर चीज को निगल जाता है चाहे वह बड़े से बड़ा ग्रह हो या फिर बड़ी से बड़ी गैलेक्सी को भी निगलने की क्षमता रखता है इसका गुरुत्वाकर्षण बल इतना ज्यादा अत्यधिक होता है कि इसकी गुरुत्वाकर्षण बल से प्रकाश भी नहीं बच पाता और इसे देखने में ब्लैक होल नजर आता है और हमारी मिल्की वे गैलेक्सी के बिल्कुल बीचोंबीच एक ब्लैक और मौजूद है और वह अब तक कई ग्रहों को निगल चुका है

एक से अधिक सूर्या (three son of one planet)

दोस्तों हमारे अंतरिक्ष में वैज्ञानिकों ने एक ऐसा ग्रह ढूंढ निकाला है जिसके पास एक नहीं बल्कि तीन-तीन सूर्य मौजूद है जी हां HD188 नाम के इस ग्रह के पास तीन सूर्य मौजूद है इस ग्रह पर तीन सितारों का प्रकाश पड़ता है यानी यूं कहें कि इसके पास तीन सूर्य मौजूद है और हमारे इस अंतरिक्ष में कई ऐसे ग्रह है जिन पर एक से अधिक सितारों का प्रकाश पड़ता है यानी उनके पास एक से अधिक सूर्य मौजूद है

अंतरिक्ष में सन्नाटा (silent space)

अंतरिक्ष में सन्नाटा दोस्तों जैसे कि मैंने आपको बताया कि अंतरिक्ष में कोई भी वातावरण नहीं होता है इसी वजह से अंतरिक्ष में कोई भी आवाज सफर नहीं कर पाती है क्योंकि ध्वनि को सफर करने के लिए वातावरण की जरूरत होती है और अंतरिक्ष में कोई भी वातावरण नहीं है इसलिए आवाज सफर नहीं कर पाती है आवाज ट्रावल नहीं कर पाती है इसीलिए अंतरिक्ष में बिल्कुल सन्नाटा पसरा हुआ होता है वहां कोई भी किसी भी प्रकार की आवाज आपको सुनाई नहीं देगी आपको ऐसा महसूस होगा कि कहीं मेरे कानों ने आवाज सुनना बंद तो नहीं कर दिया

Aliens Area 51

एलियंस का अस्तित्व (aliens in space)

दोस्तों हमारा अंतरिक्ष बहुत ही अनंत तक फैला हुआ और बहुत ही गहरा है और इस गहरे अंतरिक्ष में कहीं न कहीं कोई तो ऐसा ग्रह होगा जिस पर जीवन मौजूद हो
 विशाल और अनंत तक फैले हुए इस अंतरिक्ष में अरबों खरबों की संख्या में ग्रह मौजूद है और ऐसे ग्रह भी होंगे जहां हम इंसानों से भी ज्यादा विकसित प्रजाति निवास करती होगी हमारे वैज्ञानिक लगातार धरती से ऐसे सिग्नल भेजते हैं जिससे किसी बाहरी एलियन से कांटेक्ट किया जा सके लेकिन अब तक ऐसे कोई भी सिग्नल नहीं मिला है ऐसा माना जाए है कि अंतरिक्ष में मौजूद है 
क्या आज से हजारों साल पहले धरती पर एलियन आए थे क्या कोई उन्नत सभ्यता  धरती पर आई थी और इसका जीता जागता सबूत है गीजा के पिरामिड 
दरअसल पिरामिड में ऐसे कई सबूत मिले हैं जिनका कनेक्शन सीधा एलियंस है क्योंकि हजारों साल पहले इंसानों के पास ऐसी टेक्नोलॉजी नहीं थी जिससे विशाल पिरामिड बनाए जा सके इसलिए ऐसा मानते हैं पिरामिड को बनाने में एलियंस का हाथ है और अंतरिक्ष में हम इंसानों से हजारों गुना अधिक विकसित प्रजाति कहीं न कहीं निवास करती होगी

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पटेल समाज क्रिकेट प्रतियोगिता बडावली 2020 सभी टीमों का रिजल्ट "बाणाकला" चैंपियन

मृत्युभोज बंद होना चाहिए या नहीं मृत्युभोज एक कुप्रथा है समाज में मृत्युभोज बंद करें

area 51 kya hai | area51 क्या है | aliens Area 51 | एरिया51अमेरिका