पोस्ट

अंतरिक्ष के रहस्य जान कर हैरान हो जाओगे (Mystery of space)

इमेज
 अंतरिक्ष के रहस्य (Mystery of space) दोस्तों हमारा अंतरिक्ष या फिर यूं कहे की हमारा ब्रह्मांड कई भयानक और अजीबोगरीब रहस्य से भरा पड़ा है दोस्तों मैं इस लेख में आपको अंतरिक्ष के कुछ ऐसे रहस्य बताने वाला हूं जिसे जानकर आप हैरान रह जाओ स्पेस में अंतरिक्ष यात्री की लंबाई 1 से 2 इंच तक बढ़ जाती है(The astronaut's length increases from 1 to 2 inches in space) दोस्तों जब कोई भी अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष में जाता है तो उसकी लंबाई 1 से 2 इंच तक बढ़ जाती है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अंतरिक्ष में कोई भी गुरुत्वाकर्षण बल नहीं है इसलिए उनकी हड्डियों के जोड़ काफी ढीले हो जाते हैं उनकी मांसपेशियां काफी ढीली हो जाती है और ऐसे में गुरुत्वाकर्षण बल नहीं होने की वजह से उनकी लंबाई 1 से 2 इंच तक बढ़ जाती है चांद पर पैरों के निशान 10 करोड़ साल तक नहीं मिलेंगे(Footprints on the moon will not be found for 100 million years) जब हमारे अंतरिक्ष यात्री चांद पर कदम रखते हैं तो चाँद पर उनके पैरों के निशान अगले 10 करोड साल तक वैसे के वैसे ही बने रहेंगे ऐसा इसलिए होगा कि चांद पर कोई भी वातावरण नहीं है वहां पर हवा

2010 FR (465824) उल्कापिंड 6 सितंबर को हमारी धरती से टकरा सकता है पिरामिड से 2 गुना बड़ा उल्कापिंड धरती के लिए बना खतरा

इमेज
 2010 FR (465824) Asteroid / उल्कापिंड क्या हमारी धरती एक बार फिर से खतरे में है क्या 6 सितंबर को हमारी धरती से कोई उल्का पिंड टकराने वाला है इसी तरह की खबरें एक बार फिर से सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रही है और इस खबर को बड़े-बड़े न्यूज़ चैनल ने अपने आर्टिकल में जगह दी है जी हां दोस्तों इस खबर के अनुसार 6 सितंबर को एक पिरामिड से 2 गुना बड़ा एक्स्ट्रा हमारी तरफ से टकरा सकता है उल्का पिंड का नाम है 2010FR दोस्तों इस उल्कापिंड का दूसरा नाम 465824 है क्या यह उल्कापिंड हमारी धरती से टकरा जाएगा जिस तरह से वायरल खबरों में इस उल्कापिंड के बारे में बताया जा रहा है लगता तो ऐसा है  कि यहां 6 सितंबर को हमारी धरती से टकरा जाएगा तो चलिए जानते हैं इस उल्का पिंड के बारे में आने वाले समय में यह उल्कापिंड धरती से टकरा जाएगा यहां क्लिक करें 2010 FR उल्कापिंड का आकार दोस्तों अगर 2010 FR / 465824 इस उल्कापिंड के आकार की बात करें तो यह आकार में काफी बड़ा है और इतने बड़े उल्कापिंड कभी कभार ही हमारे धरती के करीब आते हैं वैज्ञानिकों के अनुसार इस उल्कापिंड का आकार 720 मीटर का है यानी कि इसकी चौड़ाई 720

अंतरिक्ष कहां तक फैला हुआ है अंतरिक्ष का निर्माण कैसे हुआ अंतरिक्ष के रहस्य Space

इमेज
 अंतरिक्ष (SPACE)  दोस्तों क्या आपने कभी इस अंतरिक्ष (space) के बारे में सोचा है कि यह कहां तक फैला हुआ है अंतरिक्ष का अंत कहां हो रहा है आपने कभी न कभी जरूर सुना होगा कि हमारे सौरमंडल में नौ ग्रह है और हमारा सौरमंडल मिल्की वे गैलेक्सी में मौजूद है और हमारे मिल्की वे गैलेक्सी के अंदर लगभग 30 करोड ग्रह मौजूद है और इस ब्रह्मांड में हमारी मिल्की वे जैसी लाखों गैलेक्सिया भी मौजूद है  धरती का अंत जानने के लिए यहां क्लिक करें हमारे विज्ञानिक अब तक इस अंतरिक्ष के बारे में ज्यादा नहीं जान पाए हैं लेकिन क्या आप जानते हैं यह अंतरिक्ष (space) कहां तक फैला हुआ है क्या हमारा अंतरिक्ष अनंत तक फैला हुआ है क्या हमारा अंतरिक्ष का कोई भी अंत नहीं है यह अनंत तक फैला हुआ है यह ऐसे सवाल है जो आज तक हमारे वैज्ञानिकों के पास भी इसका जवाब मौजूद नहीं है  हमारा अंतरिक्ष का निर्माण कैसे हुआ हमारे अंतरिक्ष में मौजूद अरबों ग्रह कैसे अस्तित्व में आए और इन गैलेक्सीओं का निर्माण कैसे हुआ हमारे सौरमंडल का निर्माण कैसे हुआ इन सवालों के जवाब आज भी हमारे वैज्ञानिक ढूंढ रहे हैं लेकिन अभी तक उन्हें सफलता हासिल नहीं हुई है

2011 ES4 Asteroids Attack On Earth 1 September 2020 एस्टेरॉइड 2011es4

इमेज
  2011ES4 Asteroid 2011 ES4 दोस्तों इस उल्कापिंड को लेकर हमारे वैज्ञानिक काफी समय से परेशान है इस उल्कापिंड ने वैज्ञानिकों की नींद उड़ा रखी है जी हां दोस्तों हम आपको बता दें 2011 ES4 नामक यह उल्कापिंड (एस्टेरॉइड) हमारी धरती के बिल्कुल करीब से होकर गुजरने वाला है 1 सितंबर 2020 कोई उल्कापिंड (एस्टेरॉइड) हमारी धरती से और हमारे चांद के बीच से गुजरने वाला है यह उल्कापिंड हमारी धरती के लिए कितना खतरनाक है और इससे हमारी धरती को खतरा है या नहीं आइए जानते हैं ! 2020 में गिरने वाले उल्का पिंड Coming asteroid 2011 ES4 यह उल्कापिंड 1 सितंबर 2020 को 4:30 pm को हमारी धरती से 1 लाख 21 हजार किलोमीटर दूरी से गुजरने वाला है यह दूरी हमारे धरती और चांद के Orbit period के बीच से गुजरने वाला है वैज्ञानिकों के अनुसार यह दूरी स्पेस के लिए बहुत ही कम है और 0.41% इसकी हमारे धरती से टकराने के संभावना है ! 2011 es4 एस्टेरॉइड से कितना खतरा है धरती से टकराने के संभावना 0.41% है इसी वजह से अगर यह एस्टेरॉइड हमारे धरती के वायुमंडल में प्रवेश कर सकता है अगर ऐसा होता है तो कहीं ना कहीं हमारी धरती के लिए खतरा साबित हो सक

NASA Big Update Coming Asteroid 2020 Asteroids 2018VP1 and 2011ES4 (NEO)

इमेज
 अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से एक दिन पहले क्या धरती पर तबाही आने वाली है क्या आसमान से एक एस्ट्रॉयड धरती पर गिरने वाला है दोस्तों ऐसे बहुत से आर्टिकल आपको इंटरनेट पर देखने को मिलेंगे जहां पर बड़े-बड़े न्यूज़ वेबसाइट ने भी इस खबर को जगह दी है और और कई यूट्यूब चैनल पर भी इस खबर को पब्लिश किया है तो क्या वाकई में हमारी धरती पर कोई एस्ट्रोराइड गिरने वाला है अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव के 1 दिन पहले धरती पर कोई उल्का पिंड गिरने वाला है और धरती पर तबाही आने वाली है इस बात में कितनी सच्चाई है और क्या हकीकत है आइए जानते हैं (NASA) नासा का क्या कहना है नासा के अनुसार 3 नवंबर को अमेरिका के राष्ट्रपति का चुनाव है और ठीक उसके 1 दिन पहले 2 नवंबर को 2018VP1 नामक एक उल्कापिंड हमारी धरती के बेहद करीब से गुजरने वाला है जिसके धरती से टकराने का खतरा 0.41% है  यह एक अपोलो सैनी का उल्कापिंड है और नासा ने इसे near-earth objects (NEO) की लिस्ट रखा है near Earth object यानी वह ऑब्जेक्ट जो हमारी धरती के बेहद करीब से गुजरने वाले होते हैं जिनसे हमारी धरती को खतरा हो सकता है                2020 में गिरने वाले

हिंद महासागर के 3000 किलोमीटर ऊपर से गुजरा उल्का पिंड 2020QG Asteroid Passing On Near Earth Tonight 2020

इमेज
 दोस्तों कभी-कभी दुनिया में ऐसी घटनाएं घट जाती है जिनके बारे में हम इंसानों को नहीं पता होता है और space की दुनिया में कुछ ऐसी ही घटना घटी है जी हां दोस्तों आपको बता दें कि SUV नामक एक उल्का पिंड हिंद महासागर के लगभग 3000 किलोमीटर ऊपर से एक कार के आकार का उल्का पिंड (asteroid) लगभग 12 किलोमीटर प्रति सेकंड की रफ्तार से हमारी धरती के करीब से होकर गुजरा यह दूरी बहुत ही कम है क्योंकि हम आए दिन न्यूज़ में पढ़ते हैं कि कोई asteroid 5 लाख किलोमीटर दूर से गुजरने वाला है कोई एस्ट्रोराइड 9 लाख किलोमीटर दूर से गुजरने वाला है लेकिन यह एस्टेरॉइड सिर्फ और सिर्फ 3000 किलोमीटर ऊपर से ही गुजरा इसी वजह से इस asteroid का हमारी धरती से टकराने की संभावना बहुत ही ज्यादा थी लेकिन यह किसी कारण वर्ष हमारी धरती के वातावरण में प्रवेश नहीं हो पाया और 12 किलोमीटर प्रति सेकंड की रफ्तार से यह हिंद महासागर के 3000 किलोमीटर ऊपर से गुजर गया ! 1 सितंबर 2020 को एक भयानक एस्टेरॉइड हमारी धरती के बेहद करीब से होकर गुजरने वाला है ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें 2020QG Asteroid  इस उल्कापिंड (Asteroid)  का दूसरा नाम 202

Asteroids Crater In World / Berringer Crater In Arizona And Gosses Bluff Crater In Australia

इमेज
 Asteroids Crater In World दोस्तों आज आप जानोगे हमारी धरती के अतीत में गिरी भयानक उल्कापिंड (Asteroid) और उनके अवशेष आज भी धरती के इतिहास में गिरे उल्कापिंड और उस भयानक दृश्य से हमें अवगत कराती है और जिसे देख कर यह कुदरत हमें एहसास दिलाता है कि इस कुदरत के सामने हम इंसान कुछ भी नहीं ! Berringer Crater Arizona In USA Berringer Crater Facts बहुत ही शानदार और विशाल घाटियों का घर एरीजोना का यह खड्डा (Crater) 50,000 साल पहले गिरे उल्कापिंड से बना ये खड्डा(Crater) आज पर्यटकों की पहली पसंद है यहां लगभग 160 फीट बड़ी उल्का पिंड एरीजोना की उत्तरी रेगिस्तान में गिरी थी जहां आज यह खड्डा(Crater) मौजूद है और आज इसे पूरी दुनिया मे Berringer Crater के नाम से जानते हैं विशालकाय उल्का पिंड के गिरने से यहां 1 मील  लंबा चौड़ा और 600 फीट गहरा इस विशाल खड्डे(Crater) का निर्माण हो गया barringer crater को लेकर वैज्ञानिकों का मानना है कि 50,000 साल पहले 28,000 मील प्रति घंटे की रफ्तार से 160 फीट बड़ा उल्का पिंड बड़ी तेजी से हमारी धरती से टकराई थी और यह विस्फोट इतना भयानक था की हिरोशिमा पर गिराए गए परमाणु बम से